Home » Maut Ka Khel by Surender Mohan Pathak
Maut Ka Khel Surender Mohan Pathak

Maut Ka Khel

Surender Mohan Pathak

Published
ISBN :
Mass Market Paperback
Enter the sum

 About the Book 

फाकाकशी करते विमल को जब शानता ने एक आसरा, एक सहारा ऑफर किया तो विमल को लगा जैसे उसके अचछे दिन वाले थे । लेकिन विमल नहीं जानता था कि शानता ने उसे आसरा नहीं दिया था बलकि अपने लिये एक हथियार ढूंढा था । एक ऐसा हथियार जिसे चलाकर वो अपने सारे कषट दूर करनाMoreफाकाकशी करते विमल को जब शान्ता ने एक आसरा, एक सहारा ऑफर किया तो विमल को लगा जैसे उसके अच्छे दिन वाले थे । लेकिन विमल नहीं जानता था कि शान्ता ने उसे आसरा नहीं दिया था बल्कि अपने लिये एक हथियार ढूंढा था । एक ऐसा हथियार जिसे चलाकर वो अपने सारे कष्ट दूर करना चाहती थी ।अपनी सैलाब जैसी जिंदगी में ठहराव तलाशते, अपने अतीत से शर्मिंदा, वर्तमान से आशंकित और भविष्य से आतंकित महानायक सरदार सुरेन्द्र सिंह सोहल उर्फ विमल की महागाथा का पहला और अविस्मरणीय अध्याय !